क्रिकेट में तीन महीने के भीतर दूसरी बार बॉल टैम्परिंग, श्रीलंका के कप्तान पर लगे गंभीर आरोप

श्रीलंका-वेस्टइंडीज टेस्ट के तीसरे दिन श्रीलंकाई टीम को विकेटों की तलाश थी, तभी ऑन फील्ड अंपायर अलीम डार और डयान गुल्ड ने गेंद चमकाने के श्रीलंकाई कप्तान के तरीके पर चिंता जाहिर की।

New Delhi, Jun 18 : श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल पर आरोप लगा है कि उन्होने अपनी जेब में रखे स्वीटनर से बॉल टैम्परिंग की, आपको बता दें कि ये वाकया श्रीलंका-वेस्टइंडीज के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन हुआ। इंटरनेशनल क्रिकेट में 3 महीने में दूसरी बार बॉल टैम्परिंग का मामला सामने आया है। इससे पहले मार्च में कंगारु खिलाड़ी कैमरुन बेनक्रॉफ्ट ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच के दौरान बॉल टैम्परिंग की थी, बाद में कप्तान स्टीव स्मिथ ने टैम्परिंग की साजिश रचने की बात कबूल ली थी।

Advertisement

अंपायर ने जताई चिंता
आपको बता दें कि श्रीलंका-वेस्टइंडीज टेस्ट के तीसरे दिन श्रीलंकाई टीम को विकेटों की तलाश थी, तभी ऑन फील्ड अंपायर अलीम डार और डयान गुल्ड ने गेंद चमकाने के श्रीलंकाई कप्तान के तरीके पर चिंता जाहिर की। ब्रॉडकास्टर्स से फुटेज मांगे गये, ताकि मामले की तह तक जाया जा सके । अंपायरों ने अगले दिन सुबह फुटेज देखे, तो उसमें नजर आया कि श्रीलंका के कप्तान ने अपनी बायीं जेब से स्वीटनर निकाला, उसे मुंह में डाला, फिर बाद में मुंब से उसे गेंद पर लगा दिया। फिर गेंद श्रीलंकाई गेंदबाज लहीरु कुमारा को दे दी।

Advertisement

वेस्टइंडीज टीम को मिले 5 रन
फुटेज देखने के बाद अंपायरों ने कहा कि श्रीलंका के कप्तान ने गेंद की स्थिति बदलने के लिये ऐसा किया। उन पर आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाया गया। ये सब तब हुआ, जब टीम को मैदान पर उतरने में सिर्फ 10 मिनट बाकी थे। मैदानी अंपायर ने गेंद बदल दी, और वेस्टइंडीज टीम को पेनाल्टी के तौर पर 5 रन दिये गये। इससे नाराज श्रीलंका टीम के खिलाफ मैदान पर उतरने को राजी नहीं हुए। वो मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ से बात करते रहे। टीम प्रबंधन ने कोलंबो में श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड से फोन पर बात की। फिर दो घंटे बाद खिलाड़ी मैदान पर उतरे ।

चांदीमल पर लग सकता है बैन
आपको बता दें कि मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ आज ही इस मामले पर सुनवाई करेंगे, अगर दिनेश चांदीमल मामले में दोषी पाये जाएंगे, तो शनिवार से खेले जाने वाले सीरीज के तीसरे और फाइनल टेस्ट मैच से उन्हें सस्पेंड किया जा सकता है, साथ ही उन पर बतौर जुर्माना मैच फीस भी काटा जा सकता है। आईसीसी ने सिफारिश की थी, कि अगर श्रीलंकाई कप्तान बल टैम्परिंग मामले में दोषी पाये जाते हैं, तो उन पर एक दो टेस्ट मैच का नहीं बल्कि चार टेस्ट या 8 वनडे मैचों का बैन होना चाहिये।

विश्व क्रिकेट में श्रीलंका पिछड़ रहा है
श्रीलंका के कप्तान ने बॉल टैम्परिंग क्यों की इसके पीछे दो वजह हो सकती है, पहली कि वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मैच श्रीलंका हार चुकी है, दूसरे मैच में जब टैम्परिंग का आरोप लगा, तो पहली पारी के हिसाब से टीम पिछड़ रही थी। दूसरी बड़ी वजह ये है कि जयवर्धने और कुमार संगकारा के सन्यास लेने के बाद श्रीलंकाई क्रिकेट की हालत पतली है। सिर्फ 2017 में ही श्रीलंका ने अलग-अलग फॉर्मेट में सात खिलाड़ियों को कप्तान के रुप में आजमाया है।